Hindi हिंदी क्षितिज-2

प्रश्न 8-4: माँ को अपनी बेटी 'अंतिम पूँजी' क्यों लग रही थी?

उत्तर 8-4: माँ अपने बेटी के सबसे निकट होती है। वह अपने सारे सुख-दुःख अपनी बेटी के साथ बाँटती है। वह उसे एक पूँजी की तरह पालती है और संस्कार देती है। माँ का लगाव बेटी साथ बहुत बढ़ जाता है इसलिए उसे विदा करते समय उसे ऐसा लगता है मानो उसका सब कुछ जा रहा हो। उसे अपनी बेटी इतनी 'अंतिम पूँजी' के समान लगती है।


प्रश्न 8-5: माँ ने बेटी को क्या-क्या सीख दी?

उत्तर 8-5: माँ ने अपनी बेटी को विदा करते समय निम्नलिखित सीख दी -
• माँ ने बेटी को अपनी सुंदरता पर गर्व न करने की और प्रशंसा पर ना रीझने की सीख दी।
• खुद को भोली और कमज़ोर मत दिखाना नहीं तो लोग नाजायज़ फायदा उठाएँगें।
• वस्त्र और आभूषणों के आकर्षण से दूर रहना।
• अत्याचारों के विरुद्ध आवाज़ उठाना और उनसे दुखी होकर आत्महत्या मत करना।


प्रश्न 8-6: आपकी दृष्टि में कन्या के साथ दान की बात करना कहाँ तक उचित है?

उत्तर 8-6: कन्या के लिए दान शब्द का प्रयोग अनुचित और अपमानजनक है। दान वस्तुओं का होता है व्यक्तियों का नहीं। बेटी के साथ माँ-पिता का अनन्य संबंध होता है। कन्या की अपनी स्वतंत्रता है। शादी के बाद भी उसका जुड़ाव अपने मायके से बना रहता है।