प्रश्न 13-1. फ़ादर की उपस्थिति देवदार की छाया जैसी क्यों लगती थी ? प्रश्न 13-2. फ़ादर बुल्के भारतीय संस्कृति के एक अभिन्न अंग हैं, किस आधार पर ऐसा कहा गया है? प्रश्न 13-3. पाठ में आए उन प्रसंगों का उल्लेख कीजिए जिनसे फ़ादर बुल्के का हिंदी क्षितिज-2 प्रेम प्रकट होता है? प्रश्न 13-4. इस पाठ के आधार पर फ़ादर कामिल बुल्के की जो छवि उभरती है उसे अपने शब्दों में लिखिए। प्रश्न 13-5. लेखक ने फ़ादर बुल्के को 'मानवीय करुणा की दिव्य चमक' क्यों कहा है? प्रश्न 13-6. फ़ादर बुल्के ने संन्यासी की परंपरागत छवि से अलग एक नयी छवि प्रस्तुत की है, कैसे? प्रश्न 13-7. आशय स्पष्ट कीजिए - (क) नम आँखों को गिनना स्याही फैलाना है। प्रश्न 13-8. आपके विचार से बुल्के ने भारत आने का मन क्यों बनाया होगा ? प्रश्न 13-9. 'बहुत सुंदर है मेरी जन्मभूमि - रेम्सचैपल।' - इस पंक्ति में फ़ादर बुल्के की अपनी जन्मभूमि के प्रति कौन-सी भावनाएँ अभिव्यक्त होती हैं? प्रश्न 13-10. निम्नलिखित वाक्यों में समुच्यबोध छाँटकर अलग लिखिए - (क) तब भी जब वह इलाहाबाद में थे और तब भी जब वह दिल्ली आते थे।