दूर्वा- भाग-3 पाठ -1 गुड़िया (कविता) दूर्वा- भाग-3 पाठ -2 दो गौरेया (कहानी) दूर्वा- भाग-3 पाठ -3 चिट्ठियों में यूरोप (पत्र) दूर्वा- भाग-3 पाठ -4 ओस (कविता) दूर्वा- भाग-3 पाठ -5 नाटक में नाटक (कहानी) दूर्वा- भाग-3 पाठ -6 सागर यात्रा (यात्रा वृत्तांत) दूर्वा- भाग-3 पाठ -7 उठ किसान ओ (कविता) दूर्वा- भाग-3 पाठ -8 सस्ते का चक्कर (एंकाकी) दूर्वा- भाग-3 पाठ -9 एक खिलाड़ी की कुछ यादें (संस्मरण) दूर्वा- भाग-3 पाठ -10 बस की सैर (कहानी) दूर्वा- भाग-3 पाठ -11 हिन्दी ने जिनकी जिंदगी बदल दी (भेंटवार्त्ता) दूर्वा- भाग-3 पाठ -12 आषाढ़ का पहला दिन (कविता) दूर्वा- भाग-3 पाठ -13 अन्याय के खिलाफ (कहानी) दूर्वा- भाग-3 पाठ -14 बच्चों के प्रिय श्री केशव शंकर पिल्लै (व्यक्तित) दूर्वा- भाग-3 पाठ -15 फ़र्श पर (कविता) दूर्वा- भाग-3 पाठ -16 बूढ़ी अम्मा की बात (लोककथा) दूर्वा- भाग-3 पाठ -17 वह सुबह कभी तो आएगी (निबंध)